‘चित्रकला’ का तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सामूहिक प्रदर्शनी : मां का वात्सल्य का प्रदर्शन कलाकृतियों में – बाड़मेर

0
2
‘चित्रकला’ का तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सामूहिक प्रदर्शनी : मां का वात्सल्य का प्रदर्शन कलाकृतियों में - बाड़मेर

तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सामूहिक चित्रकला प्रदर्शनी : मां का वात्सल्य का प्रदर्शन कलाकृतियों में

बाड़मेर, 13 मई। मातृत्व दिवस पर थिंक डिजाइनर आर्ट जयपुर की तरफ से वात्सल्य सीजन 5 के तहत तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सामूहिक चित्रकला प्रदर्शनी का जवाहर कला केंद्र की सुरेख आर्ट गैलरी आयोजन किया जा रहा है। इसमें बाड़मेर से श्रीमती उषा पुरोहित ने अपनी कंपोजिशन में माँ को प्रकृति के रूप में प्रदर्शित कर अपनी कला को दर्शाया है।

‘चित्रकला’ का तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सामूहिक प्रदर्शनी : मां का वात्सल्य का प्रदर्शन कलाकृतियों में - बाड़मेरथिंक डिजाइनर आर्ट की संस्थापक और क्यूरेटर संतोष पुरोहित ने बताया कि मां के समर्पण और प्रेम को सम्मानित करने के लिए चित्रकला प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है। इस प्रदर्शनी में 26 कलाकारों की कलाकृतियों को प्रदर्शित किया गया है। इस चित्रकला प्रदर्शनी में भारत के अलावा फ्रांस,इटली, लिथुआनिया और बहरीन के कलाकारों ने कलाकृतियों के माध्यम से मां के वात्सल्य को दर्शाया है। तीन दिवसीय आयोजन का उद्घाटन राजस्थान के लोकायुक्त जस्टिस पी के लोहरा ने किया।

‘चित्रकला’ का तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सामूहिक प्रदर्शनी : मां का वात्सल्य का प्रदर्शन कलाकृतियों में - बाड़मेर

उन्होंने बताया कि बाड़मेर से श्रीमती उषा पुरोहित ने अपनी कंपोजिशन में माँ को प्रकृति के रूप में प्रदर्शित कर अपनी कला का प्रदर्शन किया। उनके मुताबिक माँ के भी प्रकृति की तरह कई रूप है और वो भी प्रकृति की तरह अपने कई रूपों में बच्चों की परवरिश कर हर परिस्थिति में उनका ख्याल रखती है। थिंक डिजाइनर आर्ट्स का मुख्य उद्देश्य खासतौर से महिला चित्रकारों को सही मार्ग एवं उनकी कला को विश्व स्तर पर पहचान दिलाने में सहयोग करना है। साथ ही प्रदर्शनी के माध्यम से महिलाओं को मंच प्रदान करना ताकि वह कला के जरिए समाज में अपनी अलग पहचान बना सके। इस दौरान जस्टिस पीके लोहरा ने प्रत्येक कलाकृति पर चित्रकार से जानकारी करते हुए उन को प्रोत्साहित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here